1 जुलाई से बदले Credit-Debit Card से जुड़े ये नियम! देखें फटाफट!

Credit Card And Debit Card .

Credit-Debit Card : डेबिट कार्ड होल्डर और क्रेडिट कार्ड का आप इस्तेमाल करते हैं तो यह खबर आपके काम की है आरबीआई ने कार्ड और डेबिट कार्ड से जुड़े नियमों में कुछ बदलाव किया है 24 जुलाई से लागू हो जाएंगी ऐसे में आपके लिए भी यह नियम जानना बेहद जरूरी है जब मैं आपको काम की खबर में क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड के नियमों में होने वाले बदलाव और बदलाव से आपकी ड्रेस पर क्या होगा सर हम आपको स्वयं में बताने जा रहे हैं केंद्रीय बैंक ने एक नोटिफिकेशन जारी किया है कि राज्य सहकारी बैंकों और जिला केंद्रीय सहकारी बैंकों को छोड़कर सभी बैंकों पर क्रेडिट कार्ड से जुड़े नए नियम लागू हो गए है नियम एक 1 जुलाई 2022 से लागू होंगे नेट बंद करने और बिलिंग समेत कई नियमों में बदलाव होगा आपके द्वारा नियमों में जो बदलाव किया जा रहा है उनमें नए क्रेडिट कार्ड नियमों की विशेषताओं की बात करें तो क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड जारी करने वाले बैंक ग्राहकों के साथ मनमानी नहीं कर सकेंगे शामिल की गई है

Credit-Debit Card

क्रेडिट कार्ड के बिल के भुगतान के समय का बिल जनरेट होने के बाद तय किया जाता है लेकिन 1 जुलाई से आपके क्रेडिट कार्ड बिलिंग साइकिल महीने की 11 तारीख से शुरू होगी और अगले महीने की 10 तारीख को समाप्त होगी करने वाली संस्थाओं को यह भी सुनिश्चित करना होगा कि ग्राहकों को किसी भी तरह का गलत बिल नहीं अगर ऐसा होता है तो कार्ड जारी करने वाली संस्थाओं को इस बारे में जवाब देना होगा अधिकतम 30 दिनों की अवधि के अंदर का धारक को सबूत के साथ जवाब देना होगा कार्ड जारी करने वाले संस्थान के बाद सुनिश्चित करेंगे कि ग्राहकों को बिल का स्टेटमेंट बेचने में देरी न हो साथ ही ग्राहकों को भुगतान करने के लिए पर्याप्त समय दिया जाए उसके बाद किसी तरह का ब्याज वसूला जाएगा जारी करने वालों को अनुरोध के साथ दिनों के भीतर कार्ड को बंद करना होगा क्रेडिट कार्ड बंद होने के बाद कारक को तुरंत ईमेल या massage के दुवारा सोचित करें

Credit-Debit Card New Rule

अगर 7 दिनों के अंदर यह प्रोसेस पूरा नहीं होता है तो बैंक को ₹500 प्रतिदिन के हिसाब से जुर्माना देना होगा यह कार्ड पर किसी भी तरह का बकाया नहीं होगा मतलब है कि अगर आप नहीं चाहते तो कोई भी बैंक आपकी बिना परमिशन के आपका कार्ड अपडेट नहीं कर पाएगा नए नियमों के मुताबिक बिना सहमति के आपका कार्ड जारी करता है या अपग्रेड करता है तो ऐसे में बैंकों कार्ड जारीकर्ता को न केवल पैसा वापस करना होगा बल्कि प्राप्तकर्ता को भी बिना किसी देरी के वापस की गई इसके तो घूमने मूल्य का जुर्माना भी देना होगा आप के नाम से पैन कार्ड जारी करता है अगर बिना बताए कार्ड जारी करता है तो इस कंडीशन में वह भारतीय रिजर्व बैंक लोकपाल से भी संपर्क कर सकता है लोकपाल योजना के प्रावधानों के अनुसार राशि तय करेगा इसके उत्पादों सेवाओं के लिए ग्राहक की लिखित सहमति जरूरी होगी

कई बार ऐसा होता है कि बैंक कार्ड जारी कर देता है लेकिन वह कार्ड धारक तक नहीं पहुंच पाता और उसका दुरुपयोग हो जाता है इस कंडीशन में अगर किसी व्यक्ति के नाम पर जारी किया गया कार्ड उन तक नहीं पहुंचता है उसका दुरुपयोग किया जाता है तो इस बात पर जोर दिया जाता है कि इस कंडीशन में होने वाले घाटे की जवाबदारी पूरी तरह से कार्ड जारी करता की होगी इतना ही नहीं जो व्यक्ति के नाम पर कार्ड जारी किया गया है इसके लिए जिम्मेदार नहीं होगा

Leave a Comment